शिव जी को भोग में क्या पसंद है?

भगवान शिव को ‘भोलेनाथ’ कहकर पुकारना किसी भी श्रद्धालु का मन बहला देता है। उनके भक्ति में विश्वास करने वाले लोग उनके प्रति गहरी श्रद्धा और आदर रखते हैं। वे भगवान शिव के प्रिय भोग की तलाश में रहते हैं ताकि वे उनके दिल की ख्वाहिशों को पूरा कर सकें। आइए, जानते हैं कि शिव जी को भोग में क्या पसंद है।

shiv bhog

धूप और दीपक

भगवान शिव को धूप और दीपक की विशेष प्राथमिकता होती है। उन्हें साफ़ और सुगंधित माहौल पसंद होता है, और धूप और दीपक उनके आत्मा को शुद्धि और शांति की भावना प्रदान करते हैं।

धनिया और बेल पत्र

शिव जी के भोग में धनिया और बेल के पत्रों की खास महत्वपूर्णता है। ये पत्र उनके प्रिय भोजन में शामिल होते हैं और उन्हें प्रसन्न करते हैं।

फल और मिष्ठानियाँ

शिव जी को फल और मिष्ठानियों का भी बहुत शौक होता है। खासकर बैल के जूतेरे और बनाने का पाक स्वादिष्ट खाना उनकी पसंदीदा सूची में आता है।

बिल्व पत्र

बिल्व पत्र भी भगवान शिव के भोग में महत्वपूर्ण होते हैं। बिल्व के पत्रों से प्रसन्न होकर वे अपने भक्तों की मनोकामनाएँ पूरी करते हैं।

धातू पत्रों की महत्वपूर्णता

शिव जी को धातू पत्रों की भी खास प्राथमिकता होती है। यहां तक कि उन्हें सोने और चांदी के पत्रों का भी बहुत शौक होता है।

केशर, इलायची और ताम्बूल

भगवान शिव के भोग में केशर, इलायची और ताम्बूल की भी विशेष महत्वपूर्णता होती है। ये विशेष घरेलू आयुर्वेदिक उपचार होते हैं जो उनकी पसंद होती हैं।

किसी भी अवस्था में समर्पण

आख़िर में, शिव जी को भोग में सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण बात यह है कि आपका समर्पण है। आपकी विशेष आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं का उन्होंने समय-समय पर ध्यान रखते हुए उनके भोग में शामिल किया जाता है।

निष्कर्ष

भगवान शिव को भोग में विशेष प्रकार की चीज़ों की पसंद होती है, लेकिन उनकी सबसे बड़ी पसंदीदा बात आपकी आत्मा की पूरी भक्ति और समर्पण होती है। आपके भक्ति और समर्पण से वे हमेशा प्रसन्न रहते हैं और आपके सभी मनोकामनाएँ पूरी करते हैं।

Leave a Comment